Of गाय, गोरी, and छोरी

enhanced-24869-1425398073-10
गाय हमारी माता है
हमको कुछ नहीं आता है|
हिंदुत्वा हमारा बाप है,
Logic की बातें करना पाप है|

इस देश की आधी से ज़्यादा जनता
भैंस का दूध पीती है,
पर क्या बतायें, उस बेचारी पर भी क्या क्या बीती है|
काली है ना, सिर्फ इसलिए माँ नहीं कहला पाती,
क्या इस देश में भैसों के लिए Fair and Lovely नहीं आती?

चारा तो नेता खा गए, गाय तो plasticखाती है,
गौ-शाला में सड़ती है, सड़को पे मारी जाती है,
पर गौ-रक्षकों की गौ-ममता सिर्फ हिंसा में ही क्यों दिख पाती है?
Pink Revolution में हमारा पहला नंबर है,
फिर भी दलित/मुस्लिम की पिटाई करने को हर गौ-रक्षक क्यों तत्पर है?

और औरत जो हमारी असली माँ है,
उसकी दुर्गति की अब क्या बोलें
9 महीने की हो या 90 साल की,
उसके शोषण की पोल और क्या खोलें?
जब मोदीजी को गौ-रक्षक,
अगले election की धमकी से डराते हैं,
तो वो भारत के बलात्कार के आंकड़े क्यों भूल जाते हैं?
मां तो औरत भी है,फिर एक गाय जितनी इज़्ज़त भी,
इस देश में क्यों नहीं पाती है?
उसकी रक्षा की बातें सिर्फ chowmein की गाठों में बंधकर क्यों रह जाती है?

बाकी क्या कहें, बस अब ऐसा करते हैं ,
अगली Olympics में एक Double Standards की स्पर्धा भी धरते हैं|
हम ही प्रतियोगी, हम ही विजेता होंगे,
आखिर दुनिया में हम से बड़े दोगले लोग,
और कहाँ होंगे?

— by Madhu Arora

(Image courtesy: Causette Magazine)

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s