हिंदी दिवस पर!

हिंदी मेरी मातृ भाषा है
राष्ट्र भाषा नहीं,
क्योंकि माँ को अपनाते हैं,
माँ से प्यार करते है, राजनीति नहीं|
इस देश में अक्सर, बूढी माँ का कोई नहीं रहता,
राष्ट्र के ठेकेदार तो बहुत बैठे हैं,
और हमेशा रहेंगे|

 

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s